मेरठ -अगर केंद्र में सरकार बनी तो नोट नहीं नौकरी दूंगी
| Agency - 08 Apr 2019

मेरठ में सोमवार को गठबंधन की रैली को सम्बोधन करने पहुंची बसपा सुप्रीमो मायावती कांग्रेस सरकारों को बार-बार कोसते हुए बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने सोमवार को कहा हमारी केंद्र में सरकार आई तो नोट नहीं नौकरी दूंगी। छह हजार महीने देने के बजाय सुविधाएं दूंगी। मेरी पार्टी घोषणा पत्र जारी करके झूठा वादा नहीं करती,बल्कि काम करने में यकीन रखती है।  

मेरठ  में गठबंधन के प्रत्याशियों के लिए आयोजित रैली में मायावती ने कहा कि पीएम को शराब का नशा चढ़ा हुआ है। लोगों को गुमराह करने के लिए चुनाव आचार संहिता लगने से पहले ही भाजपा वालो ने आधे अधूरे कार्यों का उद्घाटन और बिना तैयारी के नए कार्यों का शिलान्यास कर दिया। इससे गुमराह होने की जरूरत नहीं है। जो अन्याय और घोटाले कांग्रेस सरकार में हुए वही अब भाजपा सरकार कर रही है। और लोगो को सच और अच्छे कार्यो को लेकर अपनी पार्टी के लिए  जागरूक  किया१ 
 

वर्तमान में भाजपा और आरएसएस की सरकारों में ज्यादती चरम पर है। पर सात अप्रैल की देवबंद सहारनपुर की रैली की भीड़ देखकर बीजेपी की नींद टूट गई और अब मेरठ की रैली की भीड़ देखकर तो हालत भी खराब हो जाएगी। नमो नमो करने वालों को दौरा पड़ जाएगा। मायावती ने मेरठ प्रत्याशी याकूब कुरैशी,बिजनौर से मलूक नागर और बागपत से जयंत चौधरी को जिताने की अपील की।  जिसमे लोगो से मायावती ने वादे भी किये हैं और कहा है कि अगर केंद्र में सर्कार अणि तो नोट नहीं नौकरी दूंगी 

और मायावती ने कहा है कि सरकार बनने पर पश्चिमी उत्तर प्रदेश का पूरा ख्याल रखा जायेगा और खास तौर पर मेरठ का और कहा है कि सभी गरीबो को को १०%का सभी को आरक्षण दिया जायेगा!


Browse By Tags


Related News Articles