दिल्ली में सायं 6 बजे तक हुआ 55.54 प्रतिशत मतदान,
| Agency - 12 May 2019

लोकसभा चुनाव-2019 के तहत  दिल्ली की सात सीटों (नई दिल्ली, पूर्वी दिल्ली, पश्चिमी दिल्ली, दक्षिणी दिल्ली, उत्तर पूर्वी दिल्ली, उत्तर पश्चिमी दिल्ली और चांदनी चौक) पर मतदान खत्म हो गया है। समाचार एजेंसी एएनआइ के मुताबिक दिल्ली में शाम छह बजे तक  55.54 फीसद वोटिंग हुई है। 

दिल्ली की सातों लोकसभा सीटों पर शाम 6 बजे तक 55.54 फीसद वोटिंग फीसद मतदान हुआ है। सुबह से ही लगातार आगे चल रहे उत्तर पूर्वी दिल्ली में सर्वाधिक 58.8 फीसद हुआ है जबकि सबसे कम नई दिल्ली क्षेत्र में 51.9 फीसद हुआ है। आइये जानते हैं कहाँ कितने प्रतिशत मतदान हुआ!

चांदनी चौक- 56.06 

उत्तर पूर्वी दिल्ली- 58.08 

पूर्वी दिल्ली- 57.04

नई दिल्ली- 51.09

उत्तर पश्चिम दिल्ली-  53.05

पश्चिमी दिल्ली- 55.08

दक्षिणी दिल्ली- 52.05

धूप-गर्मी में मतदाताओं का दिख रहा उत्साह

मिली जानकारी के मुताबिक, दिल्ली में तेज धूप और गर्मी के बीच मतदान ने रफ्तार पकड़नी शुरू कर दी है। दोपहर 12 बजे तक 19.55 फीसद मतदान हुआ है।

भारत निर्वाचन आयोग के आंकड़ों की मानें चांदनी चौक लोकसभा सीट पर करीब 18.04 फीसद, उत्तर पूर्व सीट पर 21.26, पूर्वी लोकसभा पर 20.56, नई दिल्ली सीट पर 18.39, उत्तर पश्चिम सीट पर 19.57, पश्चिम पर 19.73 और दक्षिणी दिल्ली लोकसभा सीट पर 18.14 फीसद मतदान हुआ। गौरतलब है कि सुबह नौ बजे तक करीब सात फीसद जबकि 11 बजे तक 12 फीसद मतदान हुआ था।

प्रमुख उम्मीदवारों की बात करें तो कांग्रेस से उत्तर-पूर्वी दिल्ली से भूतपूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित, पूर्वी दिल्ली से पूर्व मंत्री अरविंदर सिंह लवली, नई दिल्ली से पूर्व केंद्रीय मंत्री अजय माकन और दक्षिण दिल्ली से बॉक्सर विजेंद्र सिंह शामिल हैं तो भाजपा की ओर से प्रमुख उम्मीदवारों में चांदनी चौक से केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन, पूर्वी दिल्ली से भूतपूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर, नई दिल्ली से मीनाक्षी लेखी शामिल हैं। वहीं आम आदमी पार्टी की ओर से अहम उम्मीदवारों में उत्तर पूर्वी दिल्ली से दिलीप पांडे और पूर्वी दिल्ली से आतिशी शामिल हैं।
23 अप्रैल को प्रकाशित मतदाता सूची के मुताबिक, दिल्ली में 1.43 करोड़ मतदाता हैं, जिनसे से 78,73,022 पुरुष और 64,42,762 महिलाएं एवं 669 तृतीय लिंगी (थर्ड जेंडर) शामिल हैं। दिल्ली में 18-19 साल के 2,54,723 मतदाता हैं। 40,532 दिव्यांग मतदाता हैं, जिन्हें घर से मतदान केंद्र लाने और फिर घर तक छोड़ने की सुविधा मिलेगी।  

असम एवं मिज़ोरम के महामहिम राज्यपाल प्रो जगदीश मुखी और लेडी गवर्नर श्रीमती प्रेम मुखी ने निगम प्राथमिक स्कूल C4E ब्लॉक जनकपुरी, दिल्ली में अपने मताधिकार का प्रयोग किया। महामहिम राज्यपाल पैदल चल कर मतदान केंद्र तक पंहुचे।

शाम 6 बजे तक होगा मतदान

मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) कार्यालय के अनुसार, मतदान रविवार सुबह 7 बजे से शाम छह बजे तक चलेगा। लेकिन अगर मतदाता लाइनों में लगे होंगे तो मतदान का समय बढ़ जाएगा।


मतदान के दिन यानी रविवार को कोई भी प्रत्याशी रैली, जुलूस और अपने क्षेत्र में सार्वजनिक बैठक नहीं कर सकेगा। रेडियो व टेलीविजन के माध्यम से भी चुनाव प्रचार पर पाबंदी रहेगी। यहां तक की नेताओं और पार्टियों के समर्थन में किए जा रहे फोन और एसएमएस पर भी रोक लग जाएगी। इस दौरान आचार संहिता का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगा 

12 मई (रविवार) को मतदान के दिन दिल्ली में मतदान की सुविधा के लिए दिल्‍ली मेट्रो सभी लाइनों पर सुबह चार बजे से सुबह 6 बजे तक 30 मिनट के अंतराल पर चल रही है, जबकि साथ ही इसकी सामान्‍य सेवा सुबह 6 बजे से शुरू होगी। इस तरह दिल्ली परिवहन निगम की बसें भी सुबह चल बजे से चल रही हैं।
 

दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. रणबीर सिंह के मुताबिक, मतदाताओं की सुविधा के लिए करीब 27 सौ लोकेशन पर 13,819 मतदान केंद्र बनाए गएं हैं। यहां 89 हजार 968 कर्मचारियों को तैनात किया जाएगा। चुनाव ड्यूटी पर तैनात कर्मियों को मतदान करने के लिए डाक मतपत्र की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। उन्‍होंने आगे कहा कि राजधानी की सभी सात सीटों पर मतदान की तैयारियां पूरी कर ली गयी हैं। मतदान के दौरान सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम सुनिश्चित करते हुए मतदान केंद्रों को सीसीटीवी कैमरों से लैस कर इन पर केंद्रीय सुरक्षा बलों की तैनाती की गई है।


उन्होंने बताया कि मतदाताओं, खासकर दिव्यांग मतदाताओं की सहायता के लिये विशेष इंतजाम किए गए हैं। दिल्ली में 523 संवेदनशील मतदान स्थलों पर अतिरि

क्त सुरक्षा एवं निगरानी इंतजाम किये गये हैं। छठे चरण के लिये आयोग द्वारा जारी उम्मीदवारों की सूची के अनुसार इस चरण के चुनाव मैदान में कुल 979 प्रत्याशी किस्मत आजमा रहे हैं।


दिल्ली की सातों सीटों के लिए इस बार कुल 1,43,27,458 करोड़ मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। सीईओ डॉ. रणबीर सिंह के अनुसार 18 जनवरी 2019 को दिल्ली के कुल मतदाताओं की संख्या 1,36,95,291 करोड़ थी जबकि 29 अप्रैल को फाइनल की गई मतदाता सूची में यह बढ़कर 1,43,27,458 करोड़ पहुंच गई है। इनमें पुरुष मतदाताओं की संख्या 78,73,022 लाख जबकि महिला मतदाताओं की संख्या 64,42,762 लाख है। दिव्यांग मतदाताओं की संख्या 40,532 जबकि सर्विस वोटरों की संख्या 22,005 

 

क्त सुरक्षा एवं निगरानी इंतजाम किये गये हैं। छठे चरण के लिये आयोग द्वारा जारी उम्मीदवारों की सूची के अनुसार इस चरण के चुनाव मैदान में कुल 979 प्रत्याशी किस्मत आजमा रहे हैं।


दिल्ली की सातों सीटों के लिए इस बार कुल 1,43,27,458 करोड़ मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। सीईओ डॉ. रणबीर सिंह के अनुसार 18 जनवरी 2019 को दिल्ली के कुल मतदाताओं की संख्या 1,36,95,291 करोड़ थी जबकि 29 अप्रैल को फाइनल की गई मतदाता सूची में यह बढ़कर 1,43,27,458 करोड़ पहुंच गई है। इनमें पुरुष मतदाताओं की संख्या 78,73,022 लाख जबकि महिला मतदाताओं की संख्या 64,42,762 लाख है। दिव्यांग मतदाताओं की संख्या 40,532 जबकि सर्विस वोटरों की संख्या 22,005 

दिल्ली की सातों लोकसभा सीटों के 13,819 मतदान केंद्रों पर ईवीएम मशीनों का इस्तेमाल किया जाएगा। इलेक्ट्रॉनिक पद्धति से मतदान के लिए 34,953 बैलेट यूनिट, 19,002 कंट्रोल यूनिट और 20,435 वीवीपैट की सहायता ली जाएगी। वहीं मतगणना के लिए सातों संसदीय क्षेत्रों में एक-एक मतगणना केंद्र बनाया जाएगा।


Browse By Tags


Related News Articles