44 के पार पहुंचा पारा नौ साल में सबसे ज्यादा गर्म रही मई रिकॉर्ड
| Agency - 31 May 2019

गर्मी का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है। मानो आसमान से आग बरस रही हो। मौसम विभाग के अनुसार अभी गर्मी से राहत मिलने की उम्मीद नहीं है। अगले दो तीन दिन तापमान 45 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच सकता है। हीटवेव का असर भी जनजीवन पर साफ दिखाई दे रह है। मई माह में गर्मी का असर पिछले नौ साल में सबसे ज्यादा रहा है। 

मौसम विभाग के अनुसार, आसमान साफ रहने से गर्मी का असर तेज रहेगा। तापमान 42 से 45 डिग्री सेल्सियस के बीच रहेगा। गुरूवार को गर्मी की वजह से बाजारों में सन्नाटा पसरा रहा। लोग दिन में घरों में कैद होने के लिए मजबूर हैं। भीषण गर्मी में कूलर भी राहत देने में नाकाम साबित हो रहे हैं।

गुरूवार को अधिकतम तापमान 44 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से 4 डिग्री अधिक था। न्यूनतम तापमान 25.4 डिग्री दर्ज किया गया। अधिकतम आर्द्रता 33 और न्यूनतम 30 प्रतिशत दर्ज की गई। 

 

कृषि विवि के वैज्ञानिक डॉ. आरएस सेंगर ने बताया कि बढ़ती गर्मी में पशुओं पर ध्यान देने की जरूरत है। दुधारू पशुओं को लू से बचाएं। उन्हें रोज नहलाएं। हरा चारा खिलाएं। इसके अलावा फसलों में भी रोज पानी लगाने की जरूरत है। गन्ना, मूंग, उड़द, ज्वार, मक्का, ककड़ी, तरबूज, खरबूज के उत्पादन का असर दिखाई देगा। 
 
बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. केडी शर्मा के अनुसार जिस तरह से मौसम गर्म चल रहा है, छोटे बच्चों को गर्मी से बचाने की जरूरत है। छोटे बच्चों पर लू और गर्मी का असर तेजी से होता है। उन्हें धूप से बचाएं। बच्चों में उल्टी दस्त की समस्या भी ज्यादा हो जाती है। 

पिछले नौ साल में मई का अधिकतम तापमान 
वर्ष     अधिकतम 
2011    43.2 
2012     44.0 
2013     43.5 
2014    42.5 
2015    43.5 
2016    43.5 
2017    43.0 
2018      43.2 
2019      44.0 

अगले दो तीन दिन राहत की उम्मीद नहीं है। दिन का तापमान 42 से 45 डिग्री सेल्सियस के बीच रहने के आसार हैं। दिन में चल रही लू भी जानलेवा साबित हो रही है। अभी दो दिन हीटवेव बनी रहेंगी। नौ साल में गर्मी मई में सबसे अधिक रही है।


Browse By Tags


Related News Articles