मेरठ के सुभारती विश्वविद्यालय के बाउंसर की गोली मारकर हत्या
| Agency - 10 Jun 2019

सुभारती विश्वविद्यालय में अनाधिकृत रूप से प्रवेश करने के प्रयास में लगे कार सवार लोगों ने गेट पर रोकने के विरोध में बाउंसर पर ताबड़तोड़ फायर झोंक दिया। कई गोली लगने के कारण बाउंसर ने दम तोड़ दिया जबकि सिक्योरिट सुपरवाइजर घायल हैं। इन पर हमला करने वालों में दो की शिनाख्त हो गई है। एक छात्र के साथ शिक्षिका का पति गोली चलाने के बाद से फरार हैं।

पुलिस के अनुसार कल रात करीब 10 बजे एक कार में सवार पांच युवक सुभारती विश्वविद्यालय के गेट पर पहुंचे। यहां तैनात सिक्योरिटी गार्डों ने उन्हें रोक लिया। इस पर कार सवार उखड़ गए और दोनों पक्षों में गाली-गलौज के बाद मारपीट होने लगी। शोर सुनकर बाउंसर मनोज नागर और सिक्योरिटी सुपरवाइजर कृष्णवीर गेट की ओर दौड़े। अपने को घिरता देख कार सवार युवकों ने ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी।  गोली परतापुर के बहादरपुर गांव निवासी 29 वर्षीय मनोज नागर पुत्र बिजेंद्र और सिक्योरिटी सुपरवाइजर रोहटा के डालमपुर निवासी कृष्णवीर पुत्र जवाहर को लगी। फायरिंग की आवाज से भगदड़ मच गई। अन्य साथियों ने घायलों को अस्पताल पहुंचाया, लेकिन तब तक मनोज दम तोड़ चुका था। हमलावरों में एक सूरज व दूसरा मोहित है। सूरज विश्वविद्यालय में ही फाइन आट्र्स का छात्र है, जबकि मोहित की पत्नी फाइन आट्र्स में ही फैकल्टी बताई गई है।

दिल्ली-देहरादून हाईवे पर कल रात सुभारती विश्वविद्यालय के गेट नंबर सात से प्रवेश कर रहे कार सवार युवकों को रोकना सुरक्षाकर्मियों को भारी पड़ गया। टोकने पर युवकों ने ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी जिसमें बाउंसर की मौत हो गई, जबकि सिक्योरिटी सुपरवाइजर गंभीर रूप से घायल हो गया। उसका इलाज सुभारती मेडिकल कॉलेज में ही चल रहा है। उसके हाथ में गोली लगी है। बाउंसर मेरठ ब्लॉक प्रमुख नितिन कसाना का फुफेरा भाई बताया जा रहा है। घटना के बाद हमलावर भाग गए। विश्वविद्यालय पहुंचे बाउंसर के गांववालों ने जमकर हंगामा किया।


Browse By Tags


Related News Articles