लड़कियों की ज़िंदगी बर्बाद कर चुका शकील व काला का मुठभेड़ में हुआ अंत
| Agency - 13 Jul 2019

मेरठ में 20 मिनट चली मुठभेड़ में बदमाश शकील और गुलफाम उर्फ भूरा का फ्लैट नंबर 266 में अंत हो गया। कलेक्शन एजेंट से 9.90 लाख की लूट में शामिल दोनों बदमाश पल्लवपुरम की पॉश कॉलोनी उदय सिटी में छिपे थे। तीसरी मंजिल पर स्थित फ्लैट में उन्होंने एक परिवार को बंधक बना रखा था। पुलिस के पहुंचते ही बदमाशों ने ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। करीब 20 मिनट चली मुठभेड़ में बदमाशों ने ताबड़तोड़ गोलियां दागीं। फायरिंग बंद होने के बाद पुलिस ने फ्लैट की कांबिंग की। 

स्थान पल्लवपुरम उदय सिटी। रात (गुरुवार) के 1:45 बजे थे। पुलिस के अनुसार, मुखबिर की सूचना पर एनकाउंटर स्पेशलिस्ट सीओ दौराला जितेंद्र सरगम, इंस्पेक्टर पल्लवपुरम जनक सिंह चौहान और 12 पुलिसकर्मी उदय पार्क पहुंचे। फ्लैट नंबर 266 में दो बदमाश शकील और गुलफाम उर्फ भूरा के छुपे होने की सूचना थी। बदमाशों ने इस फ्लैट में रहने वाले मनोज गर्ग, उनकी पत्नी सीमा, पुत्र तुषार और 12 साल की पुत्री को बंधक बना रखा था। इस परिवार को बचाना पुलिस के लिए चुनौती था। 
फ्लैट को पुलिस ने चारों तरफ से घेर रखा था। बदमाशों को इसकी भनक लगी तो उन्होंने फ्लैट की छत पर जाकर पुलिस पर पिस्टल से फायरिंग शुरू कर दी। इस पर पुलिस ने एके 47 और पिस्टल से जवाबी कार्रवाई की। गोली चलने की आवाज सुनकर परिवार के चारों सदस्यों ने कमरे में अंदर से कुंडी लगा ली। करीब 20 मिनट तक दोनों तरफ से गोलियां चलीं। बदमाशों की गोली से इंस्पेक्टर जनक सिंह और सिपाही विकास घायल हो गए। 2:05 बजे बदमाशों की तरफ से फायरिंग रुकी। उसके बाद सीओ दौराला टीम के साथ फ्लैट में घुसे। उन्होंने पहले परिवार को सुरक्षित निकाला फिर फ्लैट की कांबिंग की। जिसमें दोनों बदमाश लहूलुहान मिले। 

 
मुठभेड़ में इंस्पेक्टर और सिपाही के घायल होने की सूचना पर एसएसपी अजय साहनी, एसपी सिटी डॉ. अखिलेश नारायण सिंह कई थानों की फोर्स लेकर मौके पर पहुंचे। पुलिस ने घायल बदमाशों को भी जिला अस्पताल भेजा। जिसमें शकील की रास्ते में और भूरा की अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई। 

 
फ्लैट की तलाशी में दोनों बदमाशों से दो पिस्टल व भारी मात्रा में कारतूस मिले हैं। फ्लैट से 4.70 लाख रुपये बरामद हुए हैं। फ्लैट के नीचे एक बाइक भी मिली है। जिससे बदमाशों ने सोमवार को कलेक्शन एजेंट अजित मलिक से 9.90 लाख रुपये लूटे थे। यह बाइक और बदमाश शकील सीसीटीवी में कैद हुआ था।  

दहशत में मनोज का परिवार  
एडीजी मेरठ जोन प्रशांत कुमार ने बताया है कि मनोज गर्ग का परिवार पांच दिन पहले ही फ्लैट में किराये पर रहने आया था। तभी बदमाशों ने उनके फ्लैट पर कब्जा कर लिया था। इससे परिवार दहशत में था। बदमाशों को यकीन था कि यह सुरक्षित जगह है। पॉश कॉलोनी के इस फ्लैट पर पुलिस को शक भी नहीं होगा। 

पल्लवपुरम की पॉश कॉलोनी उदय सिटी में गुरुवार आधी रात लोगों की नींद गोलियों की तड़तड़ाहट से टूटी। पूरी कॉलोनी में पुलिस फोर्स देकर लोग दहशत में थे। हल्ला मचा कि आतंकी आ गए हैं। हालांकि पुलिस ने लोगों को समझाया कि डरो मत। बदमाश हैं, हम निपट लेंगे। 

उदय सिटी में आधी रात को जब पुलिस और बदमाशों के बीच फायरिंग शुरू हुई तो लोग गहरी नींद में थे। अचानक गोलियों की आवाज सुनकर लोग घरों के बाहर आ गए। कॉलोनी के लोगों ने बताया कि उन्हें कुछ समझ ही नहीं आ रहा था। कप्तान से लेकर सीओ, इंस्पेक्टर व कई थानों की फोर्स से कॉलोनी छावनी सी दिखाई दे रही थी। आधा घंटे चली मुठभेड़ में लूट में वांछित बदमाश शकील और भूरा को पुलिस ने मार गिराया। 

 
एनकाउंटर के बाद पुलिस ने उदय सिटी में लोगों से पूछताछ की। वहां पर करीब 40 से अधिक परिवार रहते हैं। कॉलोनी के लोगों का कहना है कि पुलिस ने बदमाशों को मारकर अच्छा काम किया है। 
आगे पढ़ें


Browse By Tags


Related News Articles