सहकारिता विभाग सहकारी सोसायटियों को समर्पित
| Agency - 16 Nov 2019

66वें राश्ट्रीय सहकारी सप्ताह के अतंर्गत ग्रुप हाउसिंग सोसायटिज के सेमीनार का आयोजन षुभम अपार्टमेन्ट्स, आई.पी.एक्स. में आईपैक्स सोसायटीज महासंघ द्वारा आयोजित की गई।
मुख्य अतिथि रजिस्ट्रार आफ को-आपरेटिव सोसायटीज श्री विरेन्द्र कुमार आई.ए. एस. विषिश्ठ अतिथि, अतिरिक्त पंजीयक सहकारिता श्री रणजीत सिंह, व श्री पी.एम.षर्मा उपस्थित रहे।
63 ग्रुप हाउसिंग सोसायटियों के 129 प्रतिनिधियों नेइस गोश्ठी में भाग लिया। इस अवसर सोसायटियों को आ रही कठिनाइयों को दूर करने के लिये अनेक घोशणायें की गई। अब सी.ए. की नियुक्ति आॅन लाईन की जा सकेंगी। अब सोसायटियों के पदाधिकारियों को रजिस्ट्रार आॅफिस के चक्कर नहींे लगाने पड़ेंगे।  साथ ही उन्होंने बताया कि अब आॅडिट रिपोर्ट तीन प्रतिलिपियों के स्थान पर केवल दो प्रतिलिपि देकर एक पर प्राप्ति की पावती प्राप्त करनी होगी। इस सम्बन्ध में विभाग द्वारा विधिवत परिपत्र जारी कर दिये गये हंै। श्री विरेन्द्र कुमार जी ने एक प्रष्न के उत्तर में बताया हमारे विभाग में 70 प्रतिषत मानव संसाधनों की कमी है। इसी वजह से पत्र व्यवहार में कमी रह जाती है। सोसायटी बहुत सारे विवाद स्वयम् निपटा सकती हैं। उन्होने उदाहरण देकर समस्याओं के हल करने के सुझाव दिये।
अतिरिक्त पंजीयक श्री रणजीत सिंह ने सूचना दी कि सोसायटी के रिडैवलपमेन्ट के सम्बन्ध में डी.डी.ए. के साथ हमारे सम्पर्क बने हुये हंै उन्होनें जो जो सूचना हमसे मांगी है हमने उन्हे उपलब्ध करवा दी। डी.डी.ए. अधिकारी 4 हैक्टेयर से अधिक की भूमि पर एफ.ए.आर.3 देने के लिये तैयार है।
महासंघ के प्रधान श्री सुरेष बिन्दल ने प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुये कहा कि डी.डी.ए. ने किसी भी सेासायटी को इतनी जमीन दी ही नहीं तो वो मांग कैसे सकते है घ् आप सहकारी अन्दोलन के कानूनी संरक्षक है कृप्या हमारा पक्ष मजबूती के साथ वहां रखे। 
कान्फ्रेंस में एडवोकेट चन्द्रषेखर गुप्ता ने सहकारिता एक्ट से सम्बंधित कानूनी पक्ष सामने रखा। एडवोकेट सी.एस. गुप्ता के अनुसार सहकारी सोसायटी के विवाद केवल आर.सी.एस. द्वारा सुने जाने चाहिये। इस सम्बन्ध मंे अनेक सिविल कोर्ट के निर्णयों का उदाहरण दिये।

महासंघ के महामंत्री श्री मदन खत्री ने दिल्ली जल बोर्ड द्वारा सोसायटीयों को जल सरंक्षण की व्यवस्था नहीं किये जाने पर लगाये गये कर पर सोसायटीयों का पक्ष रखा तथा सरकार से मांग की कि वो आर्थिक व तकनीकी सहायता उपलब्ध करवायंे। श्री प्रमोद अग्रवाल ने बताया कि विधान सभा अध्यक्ष श्री राम निवास गोयल जी के सहयोग से हमने दिल्ली सरकार के समक्ष इस प्रष्न को उठाया था, अब सोसायटियां बिना जुर्माने के पानी के बिल का भुगतान कर सकती हंै।
काॅमन एरिया में पूर्वी दिल्ली नगर निगम द्वारा गृहकर के डिमान्ड नोटिस पर चर्चा में भाग लेते हुये महासंघ के प्रधान श्री बिन्दल ने कहा कि हम सेासायटी में जमीन पर गृहकर नहीं देते। हम एफ.ए.आर के  अनुसार गृहकर देते है जो स्थान एफ.ए.आर में नहीं आता है उस पर गृहकर बनता ही नहीं है यह नगर निगम का गु्रप हाऊसिंग सोसायटियों पर अन्यायपूर्ण कदम है।
दिल्ली सहकारिता अन्दोलन के प्रवक्ता, दिल्ली स्टेट कोओपरेटिव यूनियन के महामंत्री श्री पी.एम.षर्मा ने महासंघ द्वारा प्रत्येक वर्श आयोजित होने वाली षानदार ज्ञान पूर्ण गोश्ठी पर बधाई दी। उनके अनुसार ऐसे सम्मेलन मे जो विचार विमर्ष होता है उसके अनेक फायदे होते हैं तथा आईपैक्स महासंघ ने पूरी दिल्ली के सहकारिता अन्दोलन को गति दी है।
दिल्ली में कार्यरत सहकारी बैंक फैडरेषन के चेयरमैन श्री विजय मोहन ने रजिस्ट्रार महोदय से मांग की कि गु्रप हाऊसिंग सोसायटियों को जो सुविधाऐं आपने दी हैं वो सभी सहकारी संस्थाओं को मिलनी चाहिये। उन्होनंेमहासंघ के कार्य कि भूरि भूरि प्रषंसा करते हुये कहा कि सहकारी अन्दोलन को महासंघ के प्रधान सुरेष बिन्दल की नेतृत्व क्षमता पर गर्व है। रजिस्ट्रार महोदय ने अंग वस्त्र भेंट कर श्री बिन्दल का अभिन्दन किया।
षुभम अपार्टमेन्ट के अध्यक्ष श्री के.डी. षर्मा ने सभी का स्वागत किया तथा महासंघ को धन्यवाद दिया कि उन्होंने इस कान्फ्रेंस को आयोजित करने के लिये हमारी सोसायटी को चुना। हमारी कल्पना से कहीं अधिक सुन्दर-सुरूचिपूर्ण-सूचनाप्रद षानदार उपस्थित प्रतिनिधियों की यह बैठक रही हम ऐसे आयोजन बार-बार करना चाहेंगे।
धन्यवाद  श्री पदम प्रकाष जैन ने किया, इस अवसर पर श्री पी. के. जैन, श्री सतेन्द्र अग्रवाल, श्रीमती अजंली गुप्ता श्री जीवेष षर्मा, श्री योगेेन्द्र बंसल, श्री आर.सी. ओसवाल व श्री अनिल सब्बरवाल ने गोश्ठी को सफल बनाने में पूरा योगदान दिया।

 


Browse By Tags