चुनावी महासमर 
| Agency - 28 Mar 2018

दक्षिण भारत के राज्य कर्नाटक में चुनावी महासमर का ऐलान हो गया है। राष्ट्रीय चुनाव आयोग ने तारीखों की घोषणा कर दी है। मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत ने 27 मार्च को पत्रकार सम्मेलन में चुनाव की तारीखों की घोषणा की है। उन्हांेने बताया कि कर्नाटक में 12 मई को मतदान होगा और 15 मई को मतगणना की जाएगी। इसके साथ ही कर्नाटक में चुनाव आचार संहिता लागू हो गयी है। कांग्रेस की सरकार अब वहां कोई लोक लुभावन वादा नहीं कर सकेगी। आदर्श आचार संहिता के तहत अब रात 10 बजे से सुबह छह बजे तक लाउड स्पीकर का इस्तेमाल नहीं होगा। चुनाव आयोग ने कहा है कि राज्य के कमजोर तबके के वोटरों को पूरी सुरक्षा दी जाएगी, आचार संहिता तोड़ने वालों पर कड़ाई से नजर रखी जाएगी और आयोग का पूरा प्रयास होगा कि चुनाव निष्पक्ष, भय रहित वातावरण में सम्पन्न कराये जाएं। कर्नाटक की विधानसभा में 224 सीटें हैं और कोई भी राजनीतिक दल 113 विधायक जुटाकर सरकार बना सकता है। वर्तमान में यहां कांग्रेस की सरकार है और 2013 में हुए राज्य विधानसभा के चुनाव में कांग्रेस ने 122 विधायक जुटाकर सरकार बनायी थी। इसके अलावा भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को 40 और जनता दल (एस) को भी 40 विधायक मिले थे। उससे पूर्व भाजपा की सरकार थी और विवादों के बीच बीएस येदियुरप्पा को मुख्यमंत्री पद से हटाया गया था। येदियुरप्पा ने अपनी अलग पार्टी बनाकर चुनाव लड़ा था और उनकी पार्टी को 16 सीटें ही मिल पायी थीं। इसके बाद लोकसभा चुनाव में येदियुरप्पा फिर से भाजपा के साथ आ गये थे और इस बार भाजपा ने उन्हे ही मुख्यमंत्री के चेहरे के रूप में पेश किया है जबकि कांग्रेस मुख्यमंत्री सिद्ध रमैया के नेतृत्व में चुनाव लड़ रही है। इस बीच राज्य की तीसरी बड़ी राजनीतिक ताकत जनता दल (एस) में बिखराव पैदा हो गया है और उसके सात विधायकों ने राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस के पक्ष में वोटिंग की। इसके बाद वे जद (एस) से निकल कर विधानसभा से इस्तीफा देकर कांग्रेस में शामिल हो गये हैं। विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपनी-अपनी पार्टी को जिताने के लिए पूरी ताकत लगाये हुए हैं। 


Browse By Tags


Related News Articles