वसुंधरा ने दी अपने माननीयों को राहत
| Agency - 12 Apr 2018

जयपुर। राजस्थान की वसुंधरा राजे सरकार ने अपने मंत्रियों और विधायकों को राहत दी है। दो मंत्रियों सहित भाजपा के एक दर्जन नेताओं और विधायकों के पुलिस में दर्ज मामलों में अंतिम सूचना रिपोर्ट (एफआर) लगा दी गई है। वहीं कांग्रेस सहित अन्य विपक्षी नेताओं के खिलाफ दर्ज मामलों में जांच लंबित रखते हुए तलवार बरकरार रखी है। 
राज्य के गृह विभाग से मिली जानकारी के अनुसार राज्य पुलिस की अपराध शाखा ने ट्रैफिक पुलिस के कांस्टेबल को थप्पड़ मारने वाले श्रम एवं रोजगार मंत्री डॉ.जसवंत यादव,गोपाल मंत्री ओटाराम देवासी,भाजपा विधायक शंकर सिंह रावत,मानवेन्द्र सिंह, मानसिंह गुर्जर, बच्चू सिंह सहित एक दर्जन विधायकों और नेताओं के खिलाफ दर्ज विभिन्न मामलों में एफआर लगाई गई है। विधानसभा में भाजपा का समर्थन करने वाले निर्दलीय विधायक रणधीर सिंह भींडर के खिलाफ दर्ज मामले में भी एफआर लगा दी गई है। इन सभी मामलों को झूंठा मानते हुए,परिवादियों के खिलाफ कार्रवाई की सिफारिश सीआईडी,सीबी (अपराध नियंत्रण विभाग) ने की है । वहीं राजस्थान प्रदेश युवक कांग्रेस के अध्यक्ष और विधायक अशोक चांदना के खिलाफ दर्ज 6 मामलों में जांच लंबित रखी गई हैं कांग्रेस विधायक विश्वेन्द्र सिंह,महेन्द्रजीत सिंह मालवीय और भजनलाल सहित कई विपक्षी दलों के नेताओं के खिलाफ दर्ज मामलों में भी जांच लंबित रखने की बात कही गई है। 
 


Browse By Tags