सीरिया पर हमले को यूएन का समर्थन
| Agency - 14 Apr 2018

 न्यूयार्क। अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन ने सीरिया के खिलाफ बड़ी कार्रवाई शुरू कर दी है। संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुतारेस ने आज कहा कि सीरिया अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा के लिए सबसे गंभीर खतरा पेश करता है और उन्होंने सभी सदस्य देशों से संयम बरतने तथा ऐसा कोई भी काम करने से बचने की अपील की है जिससे स्थिति और बिगड़ सकती है तथा सीरियाई लोगों की परेशानियां और बढ़ सकती हैं। सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल असद सरकार के खिलाफ अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस के संयुक्त सैन्य हवाई हमलों के मद्देनजर गुतारेस ने यह टिप्पणी की। उन्होंने कहा, मैं सीरिया में अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन द्वारा किए गए हवाई हमलों की खबरों पर करीबी नजर रख रहा हूं। यह एक दायित्व है खासतौर से शांति और सुरक्षा से जुड़े मामलों में कि संयुक्त राष्ट्र के चार्टर और अंतरराष्ट्रीय कानून के अनुसार कार्रवाई की जाए। गुतारेस ने कहा, निश्चित ही सीरिया आज अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा को गंभीर खतरा पेश करता है। उन्होंने एक बयान में कहा, मैं सभी सदस्य देशों से अपील करता हूं कि वे इन खतरनाक परिस्थितियों में संयम बरते और ऐसी किसी भी कार्रवाई से बचे जिससे स्थिति और बिगड़े तथा सीरिया के लोगों की तकलीफें बढ़ें। 
उधर, ब्रिटिश प्रधानमंत्री टेरीजा मे ने भी कहा कि सीरिया में बल के इस्तेमाल के अलावा कोई ‘व्यावहारिक विकल्प’’ नहीं बचा था। उन्होंने इसके साथ ही सीरिया में हमले के लिये फ्रांस और अमेरिका का साथ देने का भी ऐलान किया। उन्होंने एक बयान में कहा, ‘मैंने ब्रिटिश सशस्त्र सेनाओं को सीरियाई सरकार की रसायनिक हथियारों की क्षमता को कम करने और उन्हें नष्ट करने के लिये समन्वित और लक्षित हमले करने के लिये अधिकृत किया।’
पेरिस से मिली खबरों के अनुसार फ्रांसीसी राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों ने कहा कि सीरियाई सरकार की रासायनिक हथियारों के उत्पादन और उनके इस्तेमाल की क्षमता को लक्षित कर अमेरिका और ब्रिटेन द्वारा चलाए जा रहे अभियान से फ्रांस भी जुड़ा है। सीरियाई राजधानी से धमाकों की आवाज सुने जाने के कुछ समय बाद ही उन्होंने एक बयान जारी कर कहा, ‘हम रासायनिक हथियारों के इस्तेमाल को सामान्य माने जाने की बात को बर्दाश्त नहीं कर सकते।’ उन्होंने हाल ही में डूमा में सात अप्रैल को हुए रासायनिक हमले का जिक्र करते हुये कहा, ‘फ्रांस ने मई 2017 में जो लक्ष्मण रेखा खीचीं थी उसे लांघा गया है।’ उन्होंने कहा, ‘मैंने फ्रांसीसी सेना को अमेरिका और ब्रिटेन के साथ गठबंधन में चलाए जा रहे अंतरराष्ट्रीय अभियान में शामिल होने का निर्देश दिया है जो सीरियाई सरकार के गोपनीय रासायनिक आयुध के खिलाफ लक्षित है।’ 
 


Browse By Tags