प्रज्ञ से महाप्रज्ञ सचमुच गागर में सागर–केजरीवाल
| Manoj Chaudhary - 01 May 2018

प्रज्ञ से महाप्रज्ञ पुस्तक का विमोचन ओसवाल भवन विवेक विहार दिल्ली में किया गया। इस मौके पर मुख्य अतिथि के रूप में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल उपस्थित थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष रामनिवास गोयल ने किया। अणुव्रत आंदोलन के वरिष्ठ कार्यकर्ता विजय राज सुराणा द्वारा लिखित पुस्तक प्रज्ञ से महाप्रज्ञ पुस्तक का लाकार्पण कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष राम निवास गोयल के हाथों किया गया। इस मौके पर पुस्तक का लाकार्पण करते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अणुव्रत आंदोलन के वरिष्ठ कार्यकर्ता विजय राज सुराणा ने अपनी लेखनी के माध्यम से यह दुरुह कार्य किया है। प्रज्ञ से महाप्रज्ञ पुस्तक के रूप में उन्होंने छोटी सी पुस्तिका से सरल भाषा में लिखा यूं कहे कि गागर में सागर समाया है। उनकी इस पुस्तक के माध्यम से महाप्रज्ञ दर्शन आम जनता को भी लाभान्वित करेगा ऐसा विश्वास है। मैं लेखक को हार्दिक बधाईयां देता हूं। अरविंद केजरीवाल ने अणुव्रत समिति द्वारा किए जा रहे कार्यों की प्रशंसा करते हुए कहा कि अणुव्रत समिति दिल्ली के माध्यम से दिल्ली में नैतिकता प्रसार का अच्छा कार्य हो रहा है। आपके सद्प्रयासों से नई संभावनाएं पैदा हो ऐसी मेरी मंगलकामनाएं हैं। इस मौके पर दिल्ली विधानसभा के अध्यक्ष राम निवास गोयल ने कहा कि अणुव्रत समिति लगातार समाज से जुड़े कई मुद्दे को उठाया है जिसका लाभ आम आदमी को मिला है। उन्होंने कहा कि उत्कृष्ट समाज के निर्माण में अणुव्रत समिति कई बेहतरीन कार्य किए हैं। इसके लिए समिति को हम बधाई देते हैं। विजयराज सुराणा द्वारा लिखित पुस्तक से समाज को एक नई दिशा मिलेगी ऐसा मेरा पूरा विश्वास है। विजय राज सुराणा ने पुस्तक प्रज्ञ से महाप्रज्ञ की विशेषता पर चर्चा की। ओसवाल समाज के अध्यक्ष बाबूलाल दुगड़ ने अतिथियों का स्वागत भाषण किया। इस मौके पर पद्मश्री डॉ श्याम सिंह शशि, डॉ महेंद्र कर्णावट, विजय राज सुराणा, बाबुलाल दुगड़, डॉ कुसुम लुनिया,देवेंद्र कोचर, सुरेश सठिया सहित कई गणमान्य उपस्थित थे।


Browse By Tags