इमरान हमले के मामले में बरी
| Agency - 06 May 2018

इस्लामाबाद। विरोध प्रदर्शनों के दौरान 2014 में एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी पर हमले के मामले में आतंकवाद निरोधक अदालत ने पाकिस्तान में विपक्षी नेता इमरान खान को बरी कर दिया। इमरान की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) और पाकिस्तान अवामी तहरीक के अध्यक्ष ताहिरुल कादरी ने 2013 के चुनावों में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए इसके खिलाफ 2014 में यहां एक बड़ी रैली की थी। प्रदर्शनों के दौरान हिंसक झड़पें हुईं जब पुलिस ने कादरी के आवास पर हमला कर दिया और जब इस्लामाबाद के तत्कालीन एसएसपी असमतुल्ला जुनेजो ने हस्तक्षेप का प्रयास किया तो वह गंभीर रूप से घायल हो गये। खान पर हिंसा भड़काने का आरोप है। एटीसी न्यायाधीश शाहरुख आरजूमंद ने जब मामले में फैसला पढ़ा तो इमरान अदालत में मौजूद थे। अदालत ने क्रिकेट से राजनीति में आये इमरान खान को बेगुनाह बताया। बरी किये जाने के बाद मीडिया से बातचीत में इमरान ने कहा कि यह सामान्य मामला था और इसे आतंकवाद निरोधक अदालत में भेजने की जरूरत नहीं थी। उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘इस तरह की लोकतांत्रिक सरकारें सैन्य तानाशाहों से बदतर हैं।’ 
 


Browse By Tags