वाॅलमार्ट व फ्लिपकार्ट की साझेदारी
| Agency - 06 May 2018

फ्लिपकार्ट के निदेशक मंडल ने अमेरिकी रिटेल कंपनी वॉलमार्ट के साथ प्रस्तावित सौदे को मंजूरी दे दी। इस सौदे के तहत वॉलमार्ट फ्लिपकार्ट में करीब 75 फीसदी हिस्सेदारी के लिए 15 अरब डॉलर का निवेश करेगी। शीघ्र ही सौदे को औपचारिक रूप दिया जा सकता है। सौदे की बारीकियों पर अभी काम चल रहा है। इस सौदे से फ्लिपकार्ट का मूल्यांकन करीब 20 अरब डॉलर होगा, जो प्रारंभिक अनुमान से कहीं ज्यादा है। पिछले साल जब सॉफ्टबैंक ने कंपनी में निवेश किया था तो उसका मूल्यांकन करीब 12 अरब डॉलर था। फ्लिपकार्ट और सॉफ्टबैंक के प्रवक्ताओं से इस बारे में जानकारी के लिए कई बार संपर्क करने का प्रयास किया गया लेकिन उनसे बात नहीं हो पाई। एमेजॉन द्वारा करीब 60 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने के प्रस्ताव के कुछ दिन के बाद ही फ्लिपकार्ट के बोर्ड ने वॉलमार्ट को अपनी बहुलांश हिस्सेदारी बेचने को मंजूरी दे दी। फ्लिपकार्ट के निवेशक और संस्थापक वॉलमार्ट के साथ सौदा करने के पक्ष में थे क्योंकि एमेजॉन के संग सौदे में नियामकीय अड़चन आ सकती थी। इसके संकेत भी हैं कि अल्फाबेट (गूगल की प्रवर्तक कंपनी) भी फ्लिपकार्ट में निवेश करेगी। हालांकि वह कितना निवेश करेगी, वह अभी स्पष्ट नहीं है। विशेषज्ञों ने कहा कि गूगल को इस निवेश से एमेजॉन को टक्कर देने में मदद मिलेगी। एमेजॉन गूगल के साथ हार्डवेयर के साथ ही साथ क्लाउड कंप्यूटिंग के मोर्चे पर प्रतिस्पर्धा कर रही है। 
इस सौदे से वॉलमार्ट की अपने शेयरधारकों और निवेशकों के बीच अच्छी साख बनेगी और उसका बाजार पूंजीकरण में भी इजाफा होगा। अभी वॉलमार्ट का बाजार पूंजीकरण 253 अरब डॉलर है। उद्योग के विशेषज्ञों ने कहा कि अगर सौदा होता है तो फ्लिपकार्ट में निवेश पर वॉलमार्ट अच्छा रिटर्न हासिल करने में  सक्षम होगी। सॉफ्टबैंक के अलावा फ्लिपकार्ट के अन्य निवेशक भी कंपनी से अपना निवेश निकाल लेंगे। इनमें टाइगर ग्लोबल, ऐसेल पार्टनर्स और आईडीजी वेंचर्स प्रमुख हैं। 


Browse By Tags