केजरीवाल व विनय पर भी लटकी भ्रष्टाचार की तलवार !
| Agency - 16 May 2018

दिल्ली, विनय बंसल को पिछले 10 मई को गिरफ्तार किया गया था। 10 मई को कोर्ट में पेशी के दौरान विनय बंसल बेहोश हो गया था, जिसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। उसके बाद 11 और 12 मई को कोर्ट में वह पेश नहीं हो सका। पिछले 12 मई को तीस हजारी कोर्ट ने उसे कोर्ट में पेश होने के लिए दोबारा प्रोडक्शन वारंट जारी किया। आरोप है कि अरविंद केजरीवाल के साढ़ू की कंपनी ने रोड और सीवर के ठेकों में फर्जीवाड़ा किया। कंपनी के फर्जी बिल लगाकर सरकार को 10 करोड़ की चपत लगाई। एसीबी के मुताबिक विनय बंसल अपने पिता सुरेंद्र बंसल के साथ इस फर्म में पार्टनर था। पीडब्ल्यूडी घोटाला मामले में इनकी कंपनी ने निर्माण कार्य के लिए खरीदी गई सामग्री का बिल जमा किया था। एसीबी की जांच में किसी फर्म का पता नहीं चला। आपको बता दें कि इस मामले में एसीबी ने तीस हजारी कोर्ट को बताया था कि इस मामले में दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में तीन एफआईआर दर्ज किए गए हैं। वहीं 18 मार्च 2017 को दिल्ली पुलिस के आर्थिक अपराध शाखा (ईओडब्ल्यू) ने कोर्ट को बताया था कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच एंटी करप्शन ब्रांच (एसीबी) को सौंप दी गई है।
 


Browse By Tags