ट्रंप ने कड़े किये तेवर
| Agency - 19 May 2018

वॉशिंगटन । उत्तर कोरिया के तानाशाह किमजोंग की शिखर वार्ता रद्द करने की धमकी के बाद डोनाल्ड ट्रम्प के तेवर कड़े हो गये। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि उत्तर कोरिया के साथ निर्धारित शिखर वार्ता न होने पर अमेरिका अगला कदम उठाएगा। उन्होंने दोनों नेताओं के बीच होने वाली ऐतिहासिक वार्ता पर प्योंगयांग के रुख बदलने के लिए चीन को जिम्मेदार ठहराया। सिंगापुर में ट्रंप और किम के बीच होने वाली शिखर वार्ता पर अब भी संदेह के बादल मंडरा रहे हैं, क्योंकि उत्तर कोरिया ने गत दिनों अमेरिका पर एकतरफा परमाणु निरस्त्रीकरण का आरोप लगाते हुए 12 जून को होने वाली वार्ता से पीछे हटने की धमकी दी थी। प्योंगयांग ने अमेरिका और दक्षिण कोरिया के बीच सैन्य अभ्यासों पर भी आपत्ति जताई है। ट्रंप ने ओवल कार्यालय में पत्रकारों से कहा, हम देखेंगे की क्या होता है। अगर बैठक हुई तो हुई और अगर नहीं हुई तो हम अगला कदम उठाएंगे। किम को तसल्ली देने के लिए ट्रंप ने उसे सत्ता में रहने के लिए परमाणु हथियार त्यागने का प्रस्ताव दिया, साथ ही धमकी भी दी थी कि कूटनीति विफल होने पर लीबिया जैसे हालात पैदा हो सकते हैं और उत्तर कोरियाई नेता का वहीं हश्र हो सकता है, जैसा गद्दाफी का हुआ था। गद्दाफी को सत्ता से हटाकर उसकी हत्या कर दी गई थी। उत्तर कोरिया के अचानक शिखर वार्ता को लेकर रुख बदलने के सवाल पर ट्रंप ने कहा, उसके चीन से मुलाकात करने के बाद चीजें अचानक बदल गईं। शी और किम के बीच दो माह के भीतर दो बार बैठक करने के सवाल पर ट्रंप ने कहा, यह हो सकता है कि शी किम जोंग उन को प्रभावित कर रहे हैं।
 


Browse By Tags