परिवारवाद के आरोप में घिरे सिद्धू
| Agency - 26 May 2018

चंडीगढ़, पंजाब की अमरिंदर सरकार में स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू एक बार फिर चर्चा में हैं. इस बार उनके खिलाफ विपक्ष की घेराबंदी सिद्धू के बेटे करण सिद्धू को असिस्टेंट एडवोकेट जनरल (एएजी) बनाया जाना है. लेकिन, जी मीडिया को मिली खास जानकारी के मुताबिक सिद्धू की पत्नी और उनके बेटे करण सिद्धू दोनों ही ऐसा कोई पद लेने नहीं जा रहे हैं. सिद्धू के नजदीकी सूत्रों के मुताबिक नवजोत कौर सिद्धू पंजाब वेयर हाउस निगम की डायरेक्टर और चेयरपर्सन का पद ज्वॉइन नहीं करेंगी. नवजोत सिंह सिद्धू खुद स्थानीय निकाय मंत्री हैं, उनकी पत्नी नवजोत कौर को हाल ही में पंजाब वेयर हाउसिंग कॉरपोरेशन का चेयरमैन बनाया गया है, जबकि असिस्टेंट एडवोकेट जनरल की पोस्ट पर उनके बेटे की नियुक्ति के बाद विपक्ष को सवाल उठाने का मौका मिल गया था. कभी सिद्धू ने बादल सरकार को जीजा-साले की सरकार कहकर अकाली दल को घेरने की कोशिश की थी. यही वजह है कि जब सिद्धू की पत्नी और बेटे को पंजाब सरकार ने अहम पद ऑफर किया, तो विपक्षी दल उन पर हमलावर हो गए. पूर्व स्थानीय निकाय मंत्री व वरिष्ठ भाजपा नेता अनिल जोशी ने मीडिया से कहा था कि सिद्धू का चेहरा अब बेनकाब हो गया है.


Browse By Tags