ग्यारहवें आईपीएल के 11 रिकार्ड
| Agency - 02 Jun 2018

धड़ा-धड़ क्रिकेट में सबसे रोचक मुकाबले आईपीएल में होते हैं और बल्लेबाज से लेकर गेंदबाज और फील्डर तक अपना पूरा हुनर दिखाते हैं। इस बार ग्यारहवें आईपीएल मुकाबले में 11 रिकार्ड बनना एक सुखद संयोग कहा जा सकता है। आईपीएल 2018 के फाइनल में हैदराबाद के हारने से इंडियन प्रीमियर लीग में एक ऐसा रिकॉर्ड बन गया जो पिछले 10 सालों में नहीं बना था। दरअसल चेन्नई सुपर किंग्स और हैदराबाद सनराइजर्स इस सीजन में चार बार आपस में भिड़े। दो बार लीग मुकाबले में, तीसरी बार प्लेऑफ में और चैथी बार फाइनल में। इन सभी मौकों पर चेन्नई सुपरकिंग्स ने उसे हराया था। इसके साथ ही आईपीएल के एक सीजन के दौरान किसी टीम को चार बार हराने का नया रिकॉर्ड बन गया।
सबसे पहला रिकार्ड सर्वाधिक रनो का है। 17 मैचों में 8 अर्धशतक और 52.20 की औसत से 735 रन बनाने वाले न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन आईपीएल 2018 में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं। साल 2016 में विराट कोहली (973) और डेविड वॉर्नर (848) के बाद एक सीजन में बनाया गया यह तीसरा सबसे बड़ा रन योग है। इस टूर्नामेंट में सबसे अधिक अर्धशतक भी उन्होंने ही जड़े हैं। इसके साथ ही इस सीजन में गोल्डन बैट पुरस्कार के विजेता भी विलियमसन ही बने हैं। दूसरा रिकार्ड टीम का है। टीम के कुल रनों में योगदान के लिहाज से देखें तो बेंगलुरु के कुल बनाए रनों में से 29.82 फीसदी रन के. एल. राहुल ने बनाए और इस मामले में ऋषभ पंत (29.19 प्रतिशत) को पछाड़ते हुए सबसे आगे रहे। 
तीसरा रिकार्ड शतक वीरों का है। आईपीएल 2018 में वॉटसन की शतकीय पारी के साथ ही इस सीजन में कुल पांच शतक जड़े गए हैं। वॉटसन अकेले ऐसे बल्लेबाज हैं जिन्होंने टूर्नामेंट में दो शतक जमाए हैं। इसके साथ ही इस सीजन में दो शतक जड़ने वाले वॉटसन चैथे बल्लेबाज भी बन गए हैं। उनके अलावा किंग्स इलेवन पंजाब की तरफ से क्रिस गेल, सीएसके की ओर से अंबाति रायडू और दिल्ली के ऋषभ पंत ने एक एक शतक जड़े हैं। चैथा रिकार्ड सबसे ज्यादा टिके रहने का है। टूर्नामेंट में सबसे बड़ी पारी खेलने वाले बल्लेबाज ऋषभ पंत हैं। उन्होंने सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ 63 गेंदों में 128 रन बनाए थे। पांचवा रिकार्ड सबसे अधिक छक्के मारने वाले का है बात अगर सबसे अधिक छक्के जड़ने की करें तो इस टूर्नामेंट में सबसे अधिक बार यह कारनामा करने वाले बल्लेबाज भी ऋषभ पंत ही हैं। उन्होंने सर्वाधिक 37 बार गेंद को सीधे सीमा रेखा के पार पहुंचाया। दूसरे नंबर पर रहे फाइनल के हीरो शेन वॉटसन जिन्होंने चेन्नई को चैंपियन बनाने के दौरान आठ छक्के जड़े और पूरे टूर्नामेंट में कुल 35 छक्के जड़े। इसके बाद 34 छक्कों के साथ चेन्नई सुपरकिंग्स के अंबाति रायडू का स्थान है वहीं लोकेश राहुल ने भी 32 छक्के लगाए हैं। इसी तरह छठा रिकार्ड चैका जड़ने वालों का है। सबसे अधिक चैके मारने वाले बल्लेबाज के रूप में सबसे ऊपर ऋषभ पंत का स्थान आता है। यहां भी लोकेश राहुल महज दो के अंतर (66) से नंबर दो पर हैं जबकि तीसरे स्थान पर केन विलियमसन (63) मौजूद हैं. वहीं सूर्यकुमार यादव ने 61 और शिखर धवन ने 59 चैके जड़े। महेन्द्र धोनी तो क्रीज के राजा कहे जाते है। इस टूर्नामेंट में चेन्नई सुपरकिंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने भी बेहतरीन बल्लेबाजी का प्रदर्शन किया। उन्होंने 15 मैचों में 455 रन बनाए और इस दौरान उनका औसत रहा 75.83 रनों का। नौ बार नाबाद पविलियन लौटने वाले धोनी रन औसत के लिहाज से टूर्नामेंट के बाकी सभी बल्लेबाजों से कहीं आगे रहे। यह इस टूर्नामैंट का सातवां रिकार्ड बना है।
ऑस्ट्रेलिया के एंड्र्यू टाई ने किंग्स इलेवन पंजाब की ओर से खेलते हुए इस टूर्नामेंट में 18.67 की औसत से सर्वाधिक 24 विकेट चटकाए और गोल्डन बॉल के हकदार भी बने। टाई ने हैदराबाद के दो गेंदबाजों राशिद खघन (21 विकेट) और सिद्धार्थ कौल (21 विकेट) को पीछे छोड़ा। यह टूर्नामेंट का आठवां रिकार्ड रहा।
किंग्स इलेवन पंजाब के गेंदबाज अंकित राजपूत ने लिए तो केवल 11 विकेट ही लेकिन सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ उनका बेहतरीन प्रदर्शन इस टूर्नामेंट में किसी भी गेंदबाज के सबसे यादगार प्रदर्शनों में से एक रहा। इस मैच में उन्होंने चार ओवर्स में 14 रन देकर पांच विकेट लिए और आईपीएल 2018 में एक मैच में पांच विकेट चटकाने वाले एकमात्र गेंदबाज रहे। साथ ही उनका यह प्रदर्शन टूर्नामेंट का सर्वश्रेष्ठ बॉलिंग फिगर भी रहा। इस प्रकार आईपीएल का यह नौवां रिकार्ड बना।
बात अगर आईपीएल के अब तक खेले गए सभी 11 संस्करणों की करें तो फाइनल में 32 रनों की पारी खेलने वाले सुरेश रैना केवल 15 रनों से आईपीएल के पांच हजारी क्लब में शामिल होने से चूक गए। उन्होंने 172 पारियों में 4,985 रन बनाए हैं और विराट कोहली (4,948) को नंबर दो पर छोड़ते हुए आईपीएल के ऑल टाइम सबसे अधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं तो 154 विकेटों के साथ लसिथ मलिंगा अब भी आईपीएल के सबसे सफल गेंदबाज बने हुए हैं। वहीं शतकों के मामले में क्रिस गेल पहले भी पांच सेंचुरी के साथ सबसे आगे थे और इस टूर्नामेंट में एक और शतक जड़ कर उन्होंने इस संख्या को और आगे बढ़ा दिया है। टूर्नामेंट की शुरुआती बोली के दौरान एक बार फिर ठुकराए जाने वाले क्रिस गेल ने इस सीजन में 368 रन ठोके और एक शतक भी जड़ा। इसके साथ ही उनके शतकों की संख्या छह हो चुकी है। गेल सिक्सर किंग तो पहले से ही हैं। इस टूर्नामेंट में 27 छक्के लगाकर उन्होंने अपने छक्कों की संख्या 292 पर पहुंचा दी है इस प्रकार बेहतर प्रदर्शन का 10वां निकार्ड बना। यह भी एक रिकार्ड ही है कि कई धुरंधर मैंच नही खेले जिनमें चेन्नई सुपरकिंग्स में चैतन्य बिश्नोई, डेविड विली, कनिष्क सेठ, क्षितिज शर्मा, मोनू कुमार और नारायण जगदीशन। सनराइजर्स हैदराबाद में बिपुल शर्मा, मेंहदी हसन, सचिन बेबी, टी नटराजन और तन्मय अग्रवाल। दिल्ली डेयरडेविल्स में जयंत यादव, मनजोत कालरा, गुरकीरत सिंह मान और सयान घोष। कोलकाता नाइटराइडर्स में कमलेश नागरकोटी और इशांक जग्गी। मुंबई इंडियंस में एडम मिल्ने, आदित्य तारे, अनुकूल रॉय, मोहम्मद निधीश, मोहसिन खान, राहुल चाहर, तेजिंदर सिंह, सौरभ तिवारी, शरद लुंबा और सिद्धेश लाड। किंग्स इलेवन पंजाब में प्रदीप साहू, मयंक डागर, मंजूर डार और बेन ड्वौर्शुइस। राजस्थान रॉयल्स में आर्यमन बिड़ला, दुष्मंता चामीरा, जतिन सक्सेना, सुदर्शन मिथुन और जहीर खान। रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर में अनिकेत चैधरी, अनिरुद्ध जोशी, नवदीप सैनी और पवन देशपांडे एक भी मैच नहीं खेल पाये।
 


Browse By Tags