सेब बागवानों की कमायी बढ़ाएंगे जयराम
| Agency - 14 Jun 2018

शिमला। हिमाचल के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर सेब बागवानों की कमायी घटने से चिंतित है। मुख्यमंत्री इनकी कमायी बढ़ाना चाहते हैं। सेब पर लगाए शुल्क से कृषि उपज एवं विपणन समितियों की आय कैसे घटी और क्या इसके पीछे कोई साजिश तो नहीं है, इस मामले में सरकार ने जांच के आदेश दे दिए हैं। कृषि मंत्री डॉ. रामलाल मार्कंडेय ने इसकी पुष्टि की है। वह पूर्व कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में बंद किए गए टोल बैरियरों को दोबारा खोलने के पक्षधर हैं। उन्होंने इस मामले को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के समक्ष उठाया है। हालांकि अभी सरकार ने इस पर फैसला नहीं लिया है। कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में मार्केटिंग बोर्ड में लाखों रुपये के कथित यूजर चार्जेज घोटाले की जयराम सरकार जांच करवाएगी। इस बोर्ड ने पिछले साल 23 मार्च को प्रदेशभर में करीब 16 टोल बैरियर बंद किए थे। वो भी तब जबकि इन टोल बैरियर से प्रदेश की 10 कृषि उपज एवं विपणन समितियों (एपीएमसी) को हर साल सात से 10 करोड़ रुपये की कमाई होती है। टोल बैरियर बंद होने के बाद 2017 में इन समितियों की कमाई घट गई। केवल 2.41 करोड़ ही कमाई हो पाई। कृषि, उद्यान उपज में केवल सेब पर ही यूजर चार्जेज लिया जाता है। 
 


Browse By Tags