गुर्जर नेताओं ने वसुंधरा को फिर घेरा
| Agency - 02 Jul 2018

जयपुर। राजस्थान में गुर्जर समाज एक बार फिर वसुंधरा राजे सरकार से नाराज हो गया है। गुर्जर समाज ने पिछले दिनों हुए समझौते के बिंदुओं पर अमल न होने पर सात जुलाई को जयपुर में प्रस्तावित प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभा का विरोध करने की धमकी दी है।  गुर्जर नेताओं और सरकार के बीच यह समझौता हुआ था कि गुर्जर सहित अन्य पांच जातियों रैबारी, गाड़िया लुहार, रायका और बंजारा को भी पूर्व की तरह ओबीसी में आरक्षण तो मिलता रहेगा, इसके साथ ही एक फीसद अलग से मोस्ट बैकवर्ड क्लास में आरक्षण मिलेगा। समझौते के अनुसार ही सरकारी नौकरियों की भर्तियों में इन जातियों को आरक्षण का फायदा मिलेगा, लेकिन अब तक इस बाबत अधिकारिक रूप से आदेश जारी न होने से गुर्जर समाज नाराज है। गुर्जर समाज के प्रतिनिधियों ने कैबिनेट सब कमेटी के साथ हुई बैठक में सरकार के प्रति नाराजगी जताई। पंचायती राज एवं ग्रामीण विकास मंत्री राजेन्द्र राठौड़, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री अरुण चतुर्वेदी और शिक्षा राज्यमंत्री वासुदेव देवनानी समेत आला अधिकारियों के साथ हुई बैठक में गुर्जर समाज की तरफ से कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला की अगुवाई में 11 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने 16 बिंदुओं के समझौते को अमल में लाने को लेकर विस्तृत चर्चा की। करीब दो घंटे चली बैठक में गुर्जर नेता सरकार के रवैये से असंतुष्ट नजर आए तो मंत्रियों ने समझौते के हर बिंदु पर गौर करने का आश्वासन दिया। बैठक के बाद कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला ने कहा अब तक समझौते का पालन नहीं हुआ है। 
 


Browse By Tags