प्रदेश को टाइगर स्टेट का दर्जा दिलाएंगे चौहान
| Agency - 26 Jul 2018

एक मुख्यमंत्री के रूप में शिवराज सिंह चौहान ने तीन कार्यकाल पूरे कर लिये हैं, यह कोई कम महत्वपूर्ण नहीं है। सुश्री उमा भारती के कुर्सी छोड़ने के बाद राज्य में जो हालात पैदा हुए थे, उनको नियंत्रित करना आसान नहीं था। अब राज्य फिर से विधानसभा चुनाव की देहरी पर खड़ा है और शिवराज सिंह चौहान चाहते हैं कि भाजपा एक बार फिर यहां सरकार बनाकर रिकार्ड कायम कर दे। इसके चलते वे कोई कोर कसर बाकी नहीं रखना चाहते हैं। वे मध्य प्रदेश के नाम कई रिकार्ड भी बनाना चाहते हैं। इंदौर भारत को सबसे स्वच्छ शहर बन चुका है। इसी प्रकार राज्य में टाइगर्स की संख्या बड़ी है और मध्य प्रदेश को टाइगर स्टेट का दर्जा दिलाने का श्रेय भी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान को मिल सकता है। विदिशा में किसान सम्मेलन में मुख्यमंत्री ने वादा किया है कि विदिशा में मेडिकल कालेज में इसी सत्र से प्रवेश लेना संभव होगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कहते हैं कि मैंने विदिशा के विकास में कोई कसर नहीं छोड़ी है। इसी का परिणाम है कि यहां मेडिकल कालेज का भवन बनकर तैयार हो गया है। इसी सत्र में कॉलेज में एमबीबीएस प्रथम सत्र में एडमिशन होंगे। मैं अगले महीने अगस्त में फिर से उसका लोकार्पण करने आऊंगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 24 जुलाई को जिला स्तरीय किसान सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उल्लेखनीय है कि सांची रोड पर करीब 350 करोड़ रुपए की लागत से नया मेडिकल काॅलेज भवन बनाया गया है। 150 सीटर मेडिकल कॉलेज की कक्षाएं अगस्त महीने से शुरू होने की संभावना है। मुख्यमंत्री ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के लक्षण ठीक नहीं दिखाई दे रहे हैं। वे संसद में एक तरफ पीएम से गले मिलते हैं तो दूसरी तरफ आंख मारते हैं। कांग्रेस के नेताओं का कोई चरित्र नहीं है। कांग्रेस मुझे गाली देते हैं कि शिवराज के पास विकास के लिए इतना पैसा कहां से आया। मैं यह बताना चाहता हूं कि मेरी नीयत ठीक है, इस कारण बरकत हो रही है। किसान सम्मेलन को संबोधित करने के बाद जैसे ही सीएम बाहर निकले तब उनके वाहन को लोगों ने घेर लिया। जब सीएम कार में बैठे तब सत्यनारायण राठौर हत्या कांड के आरोपियों को पकड़ने की मांग को लेकर परिजनों ने हंगामा कर दिया। कुछ लोगों ने उनकी कार में घूंसे मारना शुरू कर दिया। इस बीच हत्या के आरोपियों को पकड़ने की मांग को लेकर लोग नारेबाजी करने लगे। इस बीच एसपी विनीत कपूर भीड़ में पहुंचे तो कुछ लोगों ने उनसे भी धक्का-मुक्की की। इस झूमाझटकी की वजह से उनके कंधे का अशोक चिन्ह गिर गया। नाराज लोग सीएम को कार से उतरकर बात करने की मांग कर रहे थे। इस हंगामे के बाद इंस्पेक्टर रजनी श्रीवास्तव ने मृतक सत्यनारायण के भाई अशोक राठौर को खींचकर ले गई और फिर बहसबाजी होती रही। उनकी सुरक्षा को लेकर 500 से ज्यादा पुलिसकर्मी तैनात किए गए थे। इसके बाद कई लोग उनकी कार के पास पहुंचे और कार में घूंसे मारे। गौरतलब है कि 24 जून की रात में करैया खेड़ा रोड निवासी और कृष्णा गार्डन के मैनेजर सत्यनारायण राठौर की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। मृतक की पत्नी और बुआ को इंस्पेक्टर रजनी श्रीवास्तव ने सीएम से मुलाकात भी करवा दी थी। वहीं एसपी विनीत कपूर का कहना है कि सीएम के वाहन को निकालने में धक्का लग गया था। इस वजह से शोल्डर फ्लैप गिर गया था। 
 


Browse By Tags