अब बिजली की कमी नहीं रहेगी 
| Agency - 06 Aug 2018

उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यों में बिजली की कमी रहती है। गर्मी के दिनों में बिजली  गुल हो जाने पर धरना-प्रदर्शन तक की नौबत आ जाती है लेकिन अब इससे चिंतित होने की जरूरत नहीं है। केन्द्रीय बिजली प्राधिकरण ने आश्वासन दिया है कि बिजली की अब कमी नहीं रहेगी और जरूरत से ज्यादा बिजली हमारे पास उपलब्ध रहेगी। केंद्रीय बिजली प्राधिकरण (सीईए) के अनुसार चालू वित्त वर्ष में देश में व्यस्ततम समय के इतर बिजली की उपलब्धता 4.6 फीसद अधिक और व्यस्त समय में 2.5 फीसद अधिक रहने का अनुमान है. इस प्रकार चालू वित्त वर्ष में भारत एक बिजली अधिशेष वाला राज्य होगा. पिछले साल सीईए ने अपनी भार और उत्पादन में संतुलन संबंधी रपट (एलजीबीआर) में अनुमान जताया था कि 2017-18 में भारत एक बिजली अधिशेष वाला राज्य होगा. लेकिन, इस दौरान पूरे देश में अधिक व्यस्त समय बिजली की आपूर्ति में 2.1 फीसद की कमी और बाकी समय में 0.7 फीसद की कमी देखी गई। चालू वित्त वर्ष की अप्रैल-जून तिमाही में अधिक मांग के समय बिजली आपूर्ति में कमी 0.7 फीसद जबकि सामान्य समय में कमी 0.6 फीसद रही। वित्त वर्ष 2018-19 की एलजीबीआर के मुताबिक बिजली आपूर्ति की अखिल भारतीय स्थिति से अंदाजा लगाया जा सकता है कि खपत की दृष्टि से सबसे व्यस्त अवधि में बिजली का अधिशेष 2.5 फीसद और सामान्य समय में अधिशेष 4.6ः रहेगा. इस प्रकार इस वित्त वर्ष में भारत एक बिजली अधिशेष राज्य रहेगा। 
 


Browse By Tags