दूध को गर्म करना भी है एक कला
| Agency - 09 Aug 2018

यह सुनकर आपको हंसी आ गयी होगी कि दूध को गर्म करना भी क्या कला है। आग जलाओ और दूध को किसी बर्तन मंे रखकर उबाल लो। बस दूध गर्म हो गया। हां, यह बात तो है कि दूध और चाय से जरा भी ध्यान हटा नहीं कि इसका उबाल आ जाएगा और आपका रसोई घर की गंदा होगा। इसके अलावा भी दूध को गर्म करना थोड़ा तिकड़म है। घरों में दूध को उबालना एक आम बात है। कभी-कभी दूध को लम्बे समय तक फटने से बचाने के लिए भी लोग दूध को बार.बार उबालते हैं तो कभी इसे हाई फ्लेम पर उबाला जाता है। कैल्शियम, विटामिन, प्रोटीन और कई मिनरल्स युक्त इस दूध को उबालने का भी अपना तरीका होता है। अगर आप दूध को सही तरीके से नहीं उबालते तो इससे उसके पोषक तत्व तो खत्म होते हैं ही, साथ ही यह सेहत के लिए भी काफी हानिकारक साबित होता है। तो चलिए जानते हैं दूध को उबालने के सही तरीके के बारे में। गर्मी के मौसम में दूध जल्दी फट जाता है। ऐसे में लोग दूध को फटने से बचाने के लिए उसे बार.बार उबालते हैं। लेकिन दूध को उबालने का यह तरीका गलत है। दूध को बार.बार उबालने से उसके पोषक तत्व नष्ट हो जाते हैं। इस प्रकार ऐसे दूध को पीने से आपको वह लाभ प्राप्त नहीं होता, जो वास्तव में होना चाहिए। इसके अतिरिक्त दूध को बार.बार उबालने से उसके ऊपर एक मोटी परत बन जाती है। यह सिर्फ वसा ही नहीं होता, बल्कि इस परत में दूध के घुलनशील विटामिन जैसे विटामिन ए, बी, ई और के भी शामिल होते हैं। इस प्रकार जब आप परत हटाकर दूध पीते हैं तो आप सभी पोषक तत्वों को हटाकर दूध का सेवन करते हैं। दूध को उबालते समय आपको इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि आप गैस की फ्लेम को हाई न रखें। जब आप ऐसा करते हैं तो भाप के जरिए दूध में मौजूद पोषक तत्वों का भी वाष्पीकरण हो जाता है। खासतौर से, दूध में मौजूद विटामिन बी ग्रुप के पोषक तत्व जैसे बी1, बी2 और बी12 वाष्पीकृत हो जाते हैं। वहीं दूध प्रोटीन का ही एक रूप है और जब प्रोटीन को हाई फ्लेम पर गर्म किया जाता है तो इसका स्वरूप विकृत हो जाता है। प्रोटीन का यह विकृत स्वरूप आपको लाभ पहुंचाने के स्थान पर नुकसान पहुंचाता है। इसके अतिरिक्त जब भी आप दूध को उबालें तो आप उसे मध्यम आंच पर उबालें व उबालते समय चम्मच की सहायता से स्टर भी करें। दूध पीना सेहत के लिए लाभदायक है, इस बात में कोई दो राय नहीं है। लेकिन दूध का वास्तविक लाभ उठाने के लिए जरूरी है कि आप ताजे दूध का ही सेवन करें। आप उतना दूध ही मार्केट से लाएं, जितना दूध आपका एक दिन में खत्म हो जाए। साथ ही दूध को फटने से बचाने के लिए आप उबालने के बाद उसे फ्रिज में स्टोर करके रख सकते हैं। इसके अतिरिक्त कभी भी एकदम गर्म व उबले दूध को फ्रिज में न रखें। बल्कि जब वह हल्का ठंडा हो जाए, तभी उसे फ्रिज में रखें। दूध के साघ्थ इस प्रकार का साबका आपका लगभग रोज पड़ता है। महिलाएं ही नहीं पुरुष भी इस कार्य को करते हैं तो उनके लिए भी हमने यह मुफीद बात बतायी है। 
 


Browse By Tags