यूपी में बुआ-भतीजे का कमाल
| Manoj Chaudhary - 14 Mar 2018

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में लोकसभा के दो महत्वपूर्ण उपचुनावों में बुआ-भतीजे की दोस्ती ने कमाल दिखाया है। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के इस्तीफे के चलते ये दोनों सीटें खाली हुई थीं। इन दोनों सीटों पर 12 मार्च को उपचुनाव हुआ और 14 मार्च को नतीजा घोषित किया गया। चुनाव से ठीक पहले समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी में समझौता हुआ। बसपा ने उपचुनाव न लड़ने की रणनीति बना रखी है लेकिन समझौते के तहत बसपा प्रमुख सुश्री मायावती ने अपने मतदाताओं को समाजवादी पार्टी के प्रत्याशियों का समर्थन करने का निर्देश दिया था। इस गठबंधन के चलते भाजपा को दोनों महत्वपूर्ण सीटें बचाने मंे असफलता हाथ लगी है। मतगणना के दौरान बुआ-भतीजे जिंदाबाद के नारे लग रहे थे जिनका दूरगामी अर्थ लगाया जा रहा है। 


Browse By Tags