उत्तराखंड में अडानी का निवेश
| Agency - 28 Sep 2018

उत्तराखण्ड में निवेश की बड़ी संभावनाएं हैं विशेष रूप से पर्यटन के क्षेत्र में। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने ईको टूरिज्म की तरफ से विशेष ध्यान दिया है और इसके लिए ट्रांसपोर्ट सुविधाएं बढ़ाना जरूरी होगा। इसी क्रम में 26 सितम्बर को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से उनके आवास पर अडानी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडानी ने भेंट की। उधर, मैसर्स अडानी इंटरप्राइजेज लिमिटेड ने लाइट रेल ट्रांसपोर्ट, केबल कार के लिए 4650 करोड़ और बिजली की ट्रांसमिशन लाइन व सबस्टेशन निर्माण के लिए 1000 करोड़ समेत कुल 5650 करोड़ के निवेश के लिए एमओयू पर हस्ताक्षर किए। इन परियोजनाओं में ढाई हजार से ज्यादा लोगों को रोजगार मिलेगा। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और गौतम अडानी के बीच प्रदेश में ऊर्जा के अलावा कृषि, संचार एवं पर्यटन से संबंधित अवस्थापना योजनाओं में निवेश प्रस्तावों पर चर्चा हुई। मुख्यमंत्री ने अडाणी से बेमौसमी खाद्य उत्पादों, एरोमेटिक प्लांट और फलोत्पादन की दिशा में सहयोग की अपेक्षा की। उद्योगपति अडानी ने देहरादून, मसूरी, नैनीताल, हेमकुंड साहिब, यमुनोत्री व केदारनाथ में रोपवे के निर्माण के प्रति दिलचस्पी दिखाई। इसके अलावा स्मार्ट सिटी योजना, ऋषिकेश में स्थापित होने वाले अंतर्राष्ट्रीय कन्वेंशन सेंटर, टिहरी झील में होने वाली पर्यटन गतिविधियों, वेलनेस सेंटर, सौर ऊर्जा, खाद्य प्रसंस्करण, दुग्ध उत्पाद व कृषि से संबंधित विभिन्न निवेश योजनाओं पर भी व्यापक चर्चा की गई। 
गौतम अडानी कहते हैं कि उत्तराखंड का प्राकृतिक सौंदर्य पर्यटन की दृष्टि से महत्वपूर्ण है। लिहाजा पर्यटन गतिविधियों पर विशेष फोकस करने की जरूरत है। उन्होंने स्थानीय उत्पादों के प्रोसेसिंग व पैकेजिंग पर भी जोर दिया। साथ ही कृषि उत्पादों के बेहतर प्रसंस्करण के लिए अपनी टीम उपलब्ध कराने का भी आश्र्वासन दिया। उधर, अडानी ग्रुप के साथ हस्ताक्षरित एमओयू के मुताबिक देहरादून में लाइट रेल ट्रांजिट सिस्टम के लिए 4000 करोड़ का निवेश किया जाएगा। इससे 1200 लोगों को रोजगार मिलेगा। वहीं देहरादून से मसूरी के बीच प्रस्तावित केबल कार सिस्टम पर 400 करोड़ का निवेश होगा। इससे 100 लोगों को रोजगार मिलेगा। इसी तरह हरिद्वार में केबल कार सिस्टम के लिए 250 करोड़ का निवेश किया जाएगा। इससे 100 लोगों को रोजगार मिलना है। उक्त एमओयू पर अडाणी ग्रुप के उपाध्यक्ष आनंद सिंह विसेन, उत्तराखंड मेट्रो रेल, अरबन इन्फ्रास्ट्रक्चर एंड बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन कॉरपोरेशन लिमिटेड के प्रबंध निदेशक जितेंद्र त्यागी ने हस्ताक्षर किए। अडानी ग्रुप के साथ अन्य एमओयू बिजली की ट्रांसमिशन लाइन और सबस्टेशन के निर्माण को लेकर किया गया है। अडानी ग्रुप इस परियोजना में एक करोड़ का निवेश करेगा। इस परियोजना से सौ लोगों को प्रत्यक्ष रोजगार और एक हजार लोगों को अप्रत्यक्ष रोजगार मिलेगा। इस एमओयू पर अडाणी ग्रुप के उपाध्यक्ष आनंद सिंह विसेन और पिटकुल के प्रबंध निदेशक संदीप सिंघल ने हस्ताक्षर किए हैं। इस प्रकार उत्तराखण्ड मंे पर्यटन सुविधाओं को बढ़ावा मिलेगा और देश-विदेश से पर्यटकों की संख्या भी बढ़ेगी। 


Browse By Tags