पंजाब में कानून का नहीं, बल्कि जंगल का राज: हरसिमरत कौर बादल
| Agency - 13 Oct 2018

चण्डीगढ। पंजाब में अमन शान्ति नहीं बल्कि जंगल का राज चल रहा है, जिस दौरान पंजाब में सरेआम लूटपाट की घटनाएं होने से हर वर्ग त्राहि-त्राहि कर रहा है। इस बात का प्रकटावा आज यहां अपने दौरे दौरान पत्रकारों के साथ बातचीत करते केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने किया। उन्होंने कहा कि श्री गुटका साहिब की कसम खाकर पंजाब की सत्ता संभालने वाले पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह के नेतृत्व में नशे कम होने की बजाय दिन-ब-दिन बढ़ रहे हैं। जिसके अंतर्गत चिट्टे से होने वाली मौतों की संख्या में लगातार विस्तार हो रहा है परन्तु कांग्रेस सरकार कुंभकर्णी नींद सोई खर्राटे मार रही है। उन्होंने कहा कि घर-घर नौकरियां देने के वायदे करने वाली कैप्टन सरकार ने अकाली-भाजपा सरकार दौरान भर्ती किए अध्यापकों की तनख्वाहें 45,000 से कम कर 15 हजार रुपए कर दी हैं और केंद्र सरकार की तरफ से दिए जा रहे तनख्वाहों के सहयोग में से भी रकम पंजाब के नालायक वित्त मंत्री अपने पास रख लेते हैं। उन्होंने दोष लगाया कि जिला परिषद व ब्लाक समिति चुनाव जीतने के लिए कैप्टन सरकार ने हर तरह के हथकंडे इस्तेमाल किए। यहां तक कि आम लोगों पर भी पर्चे दर्ज करने से सरकार बाज नहीं आई। इस मौके एशियन खेलों में देश का नाम रोशन करने वाले स्वर्ण सिंह विर्क और सुखमीत सिंह किशनगढ़ फरवाही तथा नैशनल खिलाड़ी डबल मैन रोइंग किश्ती में सिल्वर मैडल जीतने वाले शगनदीप सिंह को बीबी बादल ने सिरोपा पहना कर सम्मानित किया। 


Browse By Tags