नीतीश ने बनाया एक्शन प्लान
| Agency - 01 Nov 2018

पटना। चुनाव में अनुसूचित जातियां किस दल के पक्ष में गोलबंद होंगी, यह अभी पता नहीं चल रहा। उन्हें रिझाने मे जदयू दूसरे दलों से आगे चल रहा है। प्रमंडल स्तर पर सम्मेलनों का आयोजन कर इस वर्ग के लोगों को बता दिया है कि वोट देने से पहले सोच लेंगे कि नीतीश कुमार की सरकार ने उनके लिए क्या सब किया है। गंभीरता इससे भी समझी जा सकती है कि मगध प्रमंडल के सम्मेलन में खुद नीतीश पहुंचे। वही मगध, जहां के जीतनराम मांझी को नीतीश ने अपनी कुर्सी सौंप दी थी। इससे पहले के प्रमंडलीय सम्मेलनों में मुख्य वक्ता की हैसियत में सांसद आरसीपी सिंह रहे। अभियान की कमान भी उनके ही हाथ में है। भीड़ के लिहाज से देखें तो अपवाद को छोड़ हर जगह ठीक ठाक थी। दरभंगा में कम भीड़ जुटी तो इसलिए कि आयोजकों ने पंडाल का इंतजाम नहीं किया था। तीखी धूप से बचने के लिए छांव की तलाश में भीड़ छितरा गई थी। आरसीपी और दूसरे वक्ताओं का जोर इस पर था कि नीतीश ने अनुसूचित जातियों को कहां-कहां आरक्षण का लाभ दिया। 
 


Browse By Tags