वेंडरों को बाजार दे रहे रघुवर
| Agency - 17 Nov 2018

आज के समय शहरों की की एक प्रमुख समस्या यातायात जाम की है। इसके कई कारण होते हैं जिनमंे एक है सड़कों को घेरकर दुकान लगाना। फुटपाथ पर सामान बेचने वालों को हम वेंडर कहते हैं और इन वेंडरों पर बहुत सख्त कार्रवाई इसलिए भी नहीं की जा सकती क्योंकि वे ईमानदारी से व्यापार करके परिवार के लिए रोटी कमा रहे हैं। झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने इन वेंडरों को बाजार देने की योजना बनायी है। इससे इनका रोजगार भी चलता रहेगा और फुटपाथ भी खाली रहेंगे। 
झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि राज्य के सभी शहरों में अच्छी नगरीय व्यवस्था देना सरकार की प्राथमिकता है क्योंकि राज्य सरकार शहरीकरण को चुनौती नहीं बल्कि अवसर मान रही है और इसी उद्देश्य से पूरे राज्य में 25 वेंडर्स मार्केट का निर्माण किया जा रहा है। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि रांची के हरमू, रातू रोड, मोरहाबादी, एचईसी सहित पांच स्थलों पर वेंडर मार्केट का निर्माण होगा। राज्य के किसी भी शहर में फुटपाथ पर लगने वाली दुकानें सड़क पर न लगें इस कारण राज्य सरकार चरणबद्ध तरीके से ’वर्ष 2022 तक सभी चिन्हित 36,831 वेंडर्स को मार्केट मुहैया कराएगी ताकि वे इज्जत के साथ जिंदगी जी सकें। इसके साथ ही सड़कें पूरी तरह यातायात के लिए खुली रहेंगी। श्री रघुवर दास ने कहा यह राज्य सरकार की प्रतिबद्धता का परिणाम है कि निर्धारित समय से पहले आज देश के पहले बड़े अटल स्मृति वेंडर्स मार्केट का उद्घाटन रांची में हो पाया है। इस नवनिर्मित वेंडर्स मार्केट का शिलान्यास 31 जुलाई 2016 को हुआ था। नगर विकास विभाग द्वारा इस मार्केट का निर्माण किया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि रांची में जल्द ही एक बेहतरीन अर्बन हाट का भी निर्माण किया जाएगा। राज्य सरकार की सोच है कि शहर में फुटपाथ पर लगने वाली सब्जी मार्केट अथवा अन्य दुकानें सुव्यवस्थित की जाएं।उन्होंने कहा कि फुटपाथ विक्रेताओं को व्यवस्थित करना सरकार की प्राथमिकता है। शहर के बाजार स्वच्छ और सुसज्जित रहें यह वेंडर्स, नगर निगम एवं आम जनता का दायित्व है। रांची शहर को देश के टॉप 10 स्वच्छ शहर में शामिल कराना हम सब की प्राथमिकता होनी चाहिए। रांची टॉप 10 शहरों की श्रेणी में तभी आ पाएगा जब नगर निगम के अधिकारी, महापौर, उपमहापौर, पार्षद एवं आम जनता कर्तव्य का भाव जागृत कर कार्य करेंगे। उन्होंने कहा कि टीमवर्क करेंगे तभी सफलता मिलेगी।
श्री रघुवर दास गतिशील मुख्यमंत्री माने जाते हैं। इसीलिए मुख्यमंत्री ने कहा कि गरीब के जीवन में बदलाव लाना राज्य सरकार की प्राथमिकता रही है। आज जिन वेंडर्स को इस मार्केट में दुकानें आवंटित की गई हैं उनकी खुशी देख कर मेरे अंदर सकारात्मक ऊर्जा का संचार हुआ है। गरीबों के चेहरे पर मुस्कान लाना मेरे जीवन का लक्ष्य है। वैसे गरीब वेंडर्स जिनके पास रहने के लिए कोई घर नहीं है उन्हें राज्य सरकार प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत घर देगी। मुख्यमंत्री ने आवंटित वेंडर्स से अपील की कि इस मार्केट का मेंटेनेंस अथवा साफ सफाई उनका दायित्व है। वे अपनी दुकानों के आस पास कचरा नहीं फैलने दें। छोटी छोटी चीजों से ही बड़े बदलाव दिखते हैं। किसी भी आधारभूत संरचना का बनना आसान होता है लेकिन मेंटेनेंस कर पाना उतना ही मुश्किल कार्य है इसीलिए आप सब मेंटेनेंस और स्वच्छता पर अधिक से अधिक ध्यान दें ताकि हमारा शहर साफ और स्वच्छ दिखे। दास ने कहा कि अंत्योदय ही सरकार का मूल मंत्र है। विकास के पायदान पर खड़े अंतिम व्यक्ति तक सरकार की योजनाओं का लाभ पहुंचाना सरकार की प्राथमिकता रही है। राज्य सरकार जन कल्याणकारी योजनाओं को लगातार प्रतिबद्धता के साथ लागू कर रही है। वेंडर मार्केट 54 करोड़ में बना है और 195 वाहनों की इसमंे पार्किंग भी है। बाजार में 254 दुकानें (कियोस्क) हैं। 
 


Browse By Tags