पीयूष गोयल पेश करेंगे अंतरिम बजट
| Agency - 31 Jan 2019

नई दिल्ली। वित्त मंत्री पीयूष गोयल एक फरवरी को मोदी सरकार का छठा और आखिरी बजट पेश करेंगे। सरकार साफ कर चुकी है, वह इस बार अंतरिम बजट पेश करेंगे। बजट में अगले चार महीनों के खर्च के लिए मंजूरी ली जाएगी, जब तक कि नई सरकार का गठन नहीं हो जाता है। आधिकारिक सूत्रों की माने तो बजट दस्तावेज में राजस्व और खर्च का अनुमान पूरे वित्त वर्ष के लिए होगा लेकिन ‘’वोट ऑन अकाउंट’’ के जरिए संसद से केवल खर्च की मंजूरी ली जाएगी। माना जा रहा कि इस अंतरिम बजट में टैक्स छूट और किसानों के लिए राहत पैकेज की घोषणा की जा सकती है लेकिन इस बार अर्थव्यवस्था की हालत को लेकर कोई आर्थिक सर्वेक्षण नहीं पेश किया जाएगा।
आम चुनाव के बाद मई में नई सरकार का गठन होगा और फिर सरकार जुलाई में आर्थिक सर्वेक्षण के साथ फुल बजट पेश करेगी। हाल के विधानसभा चुनावों विशेषकर राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश में चुनावी हार के बाद माना जा रहा है कि इस बार के बजट को पूर्ण बजट की ही तरह पेश किया जाएगा, जिसमें कई सारी छूट और राहत की घोषणा होगी। लोकसभा की वेबसाइट में हालांकि इस बार के बजट को अंतरिम बजट का नाम दिया गया है। वित्त मंत्रालय भी कह चुका है कि एक फरवरी को फुल नहीं बल्कि अंतरिम बजट ही पेश किया जाएगा। गौरतलब है कि मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया था कि मोदी सरकार इस साल भी फुल बजट पेश करेगी। इन आशंकाओं को उस वक्त हवा मिली, जब प्रेस इन्फॉर्मेशन ब्यूरो के वर्कशॉप में अधिकारियों को कथित तौर पर यह बताया गया कि इस बार का बजट श्श्आम बजट 2019-20 होगा।
 


Browse By Tags


Related News Articles