कमलनाथ का किसानों को एक और तोहफा
| Agency - 31 Jan 2019

भोपाल। मध्य प्रदेश में 10 हार्सपावर तक की बिजली का उपयोग करने वाले किसानों का आधा बिजली बिल माफ होगा। अब इन किसानों को बिल की आधी रकम ही जमा करना होगी। किसानों के बकाया का ब्योरा सरकार ने पॉवर मैनेजमेंट कंपनी से मांगा है। राज्य के ऊर्जा विभाग की ओर से पॉवर मैंनेजमेंट कंपनी के संचालक को बुधवार को लिखे पत्र में कहा गया है कि मंत्रि-परिषद के प्रस्ताव की मंजूरी के लिए वित्त विभाग ने ऊर्जा विभाग से कृषि उपभोक्ताओं के संदर्भ में जानकारी मांगी है। वहीं दूसरी ओर ऊर्जा विभाग ने विद्युत कंपनियों से किसानों के बिल का ब्यौरा मांगा है। 
सूत्रों के अनुसार, ऊर्जा विभाग ने पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी, पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी और मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी से 10 हार्सपॉवर तक के कृषि उपभोक्ताओं के बकाया की दिसंबर 2018 तक की स्थिति का ब्यौरा मांगा है। इसके बाद ही किसानों का आधा बिल माफ किया जाएगा। ज्ञात हो कि कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव के दौरान किसानों से बिजली बिल आधा करने का वचन दिया था। उसी वचन को पूरा करने के लिए सरकार ने यह प्रक्रिया अपनाई है।
इसके साथ ही मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के भाजपा पर बुधवार को कसे गए इस तंज पर गौर कीजिए। मुझे बड़ा दुख होता है कि जो लोग खुद को गोरक्षक कहते थे, उन्होंने 15 सालों में एक भी गोशाला का निर्माण नहीं किया। इस तंज में दम भी है और उन्हें इसका हक भी, क्योंकि उनकी सरकार एक हजार गोशालाओं के निर्माण को मंजूरी दे चुकी है। जहां एक लाख निराश्रित गोवंश को ठौर ठिकाना मिलेगा, जो अभी सड़कों पर भटकते रहते हैं। गोशाला अकेला मुद्दा नहीं है। ऐसे और भी कई मामले हैं, जहां कांग्रेस सरकार भाजपा के पर्याय बने मुद्दों पर उसे चित करते नजर आती है।
 


Browse By Tags