जोगी और माया के गठबंधन में दरार
| Agency - 31 Jan 2019

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव 2018 के समय बने अजीत जोगी की पार्टी और बसपा के बीच सूबे के नये गठबंधन को लेकर घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा है, जिसके चलते गठबंधन में दरार पड़ती जा रही है. दोनों पार्टियों में हार को लेकर समीक्षा मंथन के बाद नेता कार्यकर्ता एक दूसरे पर हार का ठीकरा फोड़ रहे हैं. अजीत जोगी ने पिछले दिनों अपनी पार्टी का श्वेत पत्र जारी किया था और पार्टी ने मंथन किया था।
पार्टी के मंथन के बाद उन 21 बिंदुओं को चिह्नित किया था. जहां चूक हुई और जिसके कारण हार का मुंह देखना पड़ा था. इसको लेकर जिस तरह से अजीत जोगी की पार्टी में कार्यकर्ताओं और नेताओं के बीच अंतर्कलह निकलकर सामने आ रही है. उसके आने वाले समय में संकेत ठीक दिख नहीं रहे हैं. गठबंधन में दरार दिन पर दिन बढ़ती जा रही है. जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जे के प्रवक्ता इकबाल रिजवी का कहना है कि पार्टी के कार्यकर्ताओं ने पूरी मेहनत की, लेकिन ये बात सामने आई है कि गठबंधन के दूसरे दल की वजह से नुकसान हुआ। दूसरी ओर मायावती के नेतृत्व में काम करने वाली बसपा के प्रदेश प्रभारी एमएल भारती का साफ कहना है कि हमारी पार्टी के कार्यकर्ता बड़ी ही इमानदारी के साथ चुनाव में काम किया था, लेकिन अजीत जोगी की पार्टी के कार्यकर्ताओ ने ठीक से काम नहीं किया इस लिए हमे नुकसान उठाना पड़ा।
 


Browse By Tags