स्क्रीनिंग कमेटी से हरीश रावत गायब
| Agency - 03 Feb 2019

देहरादून। लोकसभा चुनाव के प्रत्याशी चयन को लेकर कांग्रेस हाईकमान ने जो स्क्रीनिंग कमेटी बनाई है उसमें राज्य के कई दिग्गज कांग्रेसियों को तवज्जो नहीं दी गई। पांच सदस्यीय कमेटी में केवल प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष व नेता प्रतिपक्ष को ही जगह मिली है। कांग्रेस ने समय रहते प्रदेश की पांचों लोकसभा सीटों में उम्मीदवार चयन का निर्णय लिया है। ताकि अंतिम समय में टिकट को लेकर खींचतान न हो। पार्टी ने सभी नेताओं के लिए दावेदारी के रास्ते खोले हैं। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने आगामी लोकसभा चुनाव के लिए उत्तराखंड की पांचों लोकसभा सीटों के लिए स्क्रीनिंग कमेटी का गठन किया है। प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने बताया कि राहुल गांधी ने प्रभारी उत्तराखंड व सीडब्ल्यूसी सदस्य अनुग्रह नारायण सिंह, सह प्रभारी राजेश धर्माणी, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह, नेता प्रतिपक्ष डॉ. इंदिरा हृदयेश व राष्ट्रीय महासचिव संगठन वेणु गोपाल को स्क्रीनिंग कमेटी का सदस्य बनाया है। गठित कमेटी राज्य के पांचों लोकसभा सीट पौड़ी, टिहरी, हरिद्वार, नैनीताल व अल्मोड़ा के लिए प्राप्त उम्मीदवारों के प्रस्तावों की स्क्रीनिंग व छंटनी कर उम्मीदवारों का पैनल केंद्रीय चुनाव समिति को 20 फरवरी तक भेजेगी। स्क्रीनिंग कमेटी में शामिल नहीं किए गए कांग्रेस के दिग्गज नेताओं की बेचैनी बढ़ने वाली है। पार्टी जानकारों का कहना है कि प्रदेश से कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह व नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश की जुगलबंदी विरोधी माने जाने वाले पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत खेमे को असहज करेगी।
 


Browse By Tags